(MSP) न्यूनतम समर्थन मूल्य : Nyuntam samarthan mulya : Minimum Support Price In Hindi

0
66

न्यूनतम समर्थन मूल्य का नकारात्मक प्रभाव लाभ क्या हैं / कौन जारी करता हैं । Gehun dhan ka Nyuntam samarthan mulya 2020 mp list in hindi। Minimum Support Price (msp)।

न्यूनतम समर्थन मूल्य (Minimum Support Price) भारत सरकार द्वारा किसानों को फसल की बुआई से पहले उनकी फसल खरीदने के लिए एक मूल्य तय कर दिया जाता हैं। MSP अर्थात न्यूनतम समर्थन मूल्य किसान भाइयों के लिए इस बात की गारंटी होती हैं कि वह फसल का कितना भी उत्पादन कर ले उनकी फसल सरकार द्वारा तय किए गए मूल्य पर खरीदी जाएगी। न्यूनतम समर्थन मूल्य कुछ फसलों के लिए तय किया जाता हैं।

न्यूनतम समर्थन मूल्य कौन जारी करता है : Nyuntam samarthan mulya

Minimum Support Price जारी करने का अधिकार भारत में कृषि लागत और मूल्य आयोग (CACP) विभाग को हैं। इसी विभाग द्वारा न्यूनतम समर्थन मूल्य घोषित किया जाता हैं, जिस पर किसान अपनी फसल बेचते हैं।

न्यूनतम समर्थन मूल्य 2020-21 : Minimum Support Price In Hindi

भारत सरकार के कृषि लागत और मूल्य आयोग (CACP) द्वारा MSP तय करते वक्त कुछ दिशा निर्देश व मानदंडो का पालन किया जाता हैं। आइए जानते हैं निम्नलिखित कारकों के बारे में।

  • मांग और आपूर्ति।
  • अंतर्राष्ट्रीय मूल्य की स्थिति आंकलन।
  • इनपुट की कीमतों में बदलाव।
  • इनपुट-आउटपुट मूल्य समता का ज्ञान।
  • किसानों को प्राप्त होने वाली कीमतों और भुगतान की कीमतों के बीच समता।
  • जीवन यापन की लागत पर क्या प्रभाव हैं।
  • बाजार की कीमतों का रुझान व ज्ञान।
  • सामान्य मूल्य स्तर पर प्रभाव की जानकारी।
  • तय किया जाने समर्थन मूल्य उत्पादन लागत से लगभग 50% अधिक होना चाहिए।

मध्य प्रदेश समाधान पोर्टल

कितनी / कौनसी फसल का न्यूनतम समर्थन मूल्य तय किया जाता हैं

भारत सरकार द्वारा 22 फसलों का समर्थन मूल्य तय किया जाता हैं। बता दें कि इन फसलों में 14 खरीफ, 6 रबी और 2 अन्य वाणिज्यिक फसलें शामिल हैं। नीचे हम आपको न्यूनतम समर्थन मूल्य 2020-21 फसलों की सूची से रूबरू कराते हैं।

अनाज

  • गेहूं
  • धान
  • बाजरा
  • जौ
  • ज्वार
  • रागी
  • मक्का

दलहन

  • चना
  • अरहर
  • उड़द
  • मूंग
  • मसूर

तिलहन

  • मूंगफली
  • रेपसीड / सरसों
  • तोरिया
  • सोयाबीन
  • तिल
  • केसर
  • रामतिल
  • बीज
  • सूरजमुखी के बीज

न्यूनतम समर्थन मूल्य 2020 List : Nyuntam samarthan mulya list

फसल का नामवर्ष 2020-21 के लिए खरीफ फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य जानकारीन्यूनतम समर्थन मूल्य में की गई बढ़ोत्तरी
उड़द6,000300
कपास (मध्यम प्रधान)5,515260
कपास (लंबा प्रधान)5,825275
ज्वार (माल्डंदी)2,64070
ज्वार (संकर)2,62070
तिल6,855370
तूर (अरहर)6,000200
धान (ग्रेड ए)1,88853
धान (सामान्य)1,86853
बाजरा2,150150
मक्का1,85090
मूंग7,196146
मूंगफली5,275185
रागी3,295145
रामतिल6,695755
सूरजमुखी के बीज5,885235
सोयाबीन (पीला)3,880170

न्यूनतम समर्थन मूल्य के लाभ : Nyuntam samarthan mulya ka laabh

  • एमएसपी की वजह से फसल के भाव में स्थिरीकरण आता हैं।
  • किसानो को पहले से पता होता हैं कि उनकी फसल किस मूल्य पर बिकेगी।
  • MSP फसल के उत्पादन को बढ़ाने के लिए किसानो को प्रेरित करती हैं।
  • Minimum support price की definition से अंदाजा लगाया जा सकता हैं कि इसकी वजह कृषि सम्बन्धी नई तकनीक को बढ़ावा मिलेगा।

न्यूनतम समर्थन मूल्य के नकारात्मक प्रभाव / हानियाँ

  • MSP के निर्धारण प्रक्रिया में राजनैतिक प्रभावों को देखा गया हैं, जिसकी वजह कृषि क्षेत्र में कुछ नकारात्मक प्रभावों का सामना भी करना पड़ा हैं।
  • समर्थन मूल्य नीति निर्धारण के दौरान मांग पक्ष को नजरंदाज (ध्यान नहीं दिया) किया गया।
  • देश में गेहू व चावल की फसल के समर्थन मूल्य को बढ़ाने की कोशिस अधिक की गई हैं अन्य मोटे अनाज की फसलो की तुलना में।
  • परिणामस्वरूप मोटे अनाज जैसे दलहन फसलों पर इसका नकारात्मक प्रभाव देखने को मिला हैं।

एमपी ई उपार्जन पोर्टल की जानकारी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here