New Education Policy 2020 In Hindi । नई शिक्षा नीति 2020 । न्यू राष्ट्रीय एजुकेशन पॉलिसी (NEP) ।

0
34

नई/न्यू शिक्षा नीति 2020 क्या / कैसी हैं । नेशनल एजुकेशन पालिसी । Modi Sarkar Ki Sarkar Ki Nai/Nayi Shiksha Niti । New Shiksha Niti 2020 in Hindi । Nayi Shiksha Niti 2020 । New National Education Policy 2020 PDF In Hindi । what is education pdf ।

New Education Policy 2020 In Hindi : मोदी सरकार ने शिक्षानीति में एक बड़ा बदलाब किया हैं और 34 साल लम्बे समय से चली आ रही एजुकेशन पॉलिसी की रूप रेखा ही बदल दी हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में मानव संसाधन मंत्रालय के नाम को बदल दिया गया हैं और अब इसे “शिक्षा मंत्रालय” के नाम से जाना जाएगा। केंद्र सरकार की नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 की मंजूरी के साथ ही 10+2 प्रारूप भी समाप्त हो गया हैं। अब शिक्षा का एक नया फोर्मेट सामने आएगा जिसे (5+3+3+4) में विभाजित किया गया हैं। बता दें कि 21वीं सदी की नई शिक्षा नीति में उच्च शिखा के प्रमुख सुधारों की दिशा में 2035 तक 50% सकल नामांकन का अनुपात लक्षित हैं।

New National Education Policy 2020

हाल ही में प्रधानमंत्री की अध्यक्षता वाली केन्द्रीय मंत्री मंडल भारत की Nayi Shiksha Niti 2020 को मंजूरी दी हैं। New / Nayi Shiksha Niti 2020 आज से 34 साल पुरानी राष्ट्रीय शिक्षा नीति 1986 का स्थान लेगी। इस नीति के माध्यम से भारत की मातृभाषा और प्राचीन भाषाओँ छात्रों को पढाए जाने से उनके ज्ञान में विस्तार होगा। इससे विद्यार्थियों को समग्र दूर दृष्टि हासिल करने में सहायता मिलेगी।

New Education Policy 2020 launch date : नई शिक्षा नीति कब लागू होगी

राष्ट्रीय शिक्षा नीति को साल 1986 में लागू किया गया था। इसके बाद सन 1992 में rashtriya education policy में कुछ अहम संसोधन किए गए। इसके पश्चात 29 जुलाई 2020 एक बार फिर भारत की नई शिक्षा नीति 2020 को कैबिनेट मंडल ने मंजूरी दे दी हैं।

Nayi Shiksha Niti 2020 Highlight In Hindi

पॉलिसी का नामनई शिक्षा नीति 2020 । रास्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 । नेशनल एजुकेशन पॉलिसी 2020
कब लागू हुई29 जुलाई 2020
किसने लागू कियापीएम मोदी सरकार । केंद्र सरकार
उद्देश्यशिक्षा के स्तर ऊंचा उठाना
फोर्मेट10+2 के स्थान पर (5+3+3+4)
सकल नामांकन का अनुपात 2035 तक50%

नई शिक्षा निति 2020 क्या हैं : What Is New Education Pollicy ?

केंद्र सरकार ने नई शिक्षानीति के स्वरुप में कुछ अहम बदलाब किए हैं, जिसके अनुसार अब 10+2 के फोर्मेट को पूरी तरह से समाप्त कर दिया गया हैं। इसके स्थान पर 5+3+3+4 प्रारूप में विद्यार्थियों को आगे शिक्षा प्रदान की जाएगी। आइए थोड़ा ओर विश्लेषण करते हैं न्यू एजुकेशन पोलिसी के बारे में।

  • bharat ki new education pollicy के अनुसार शुरूआती पांच साल प्री-प्राइमरी स्कूल के लिए निर्धारित किए गए हैं। जिसमें से प्रथम और द्वतीय वर्ष की शिक्षा को फाउंडेशन स्टेज के रूप में शामिल किया जाएगा। शेष कक्षा 3 से 5 की शिक्षा को कक्षा के अनुसार बांटा जाएगा।
  • कक्षा 6 से 8 की शिक्षा को मध्य चरण की शिक्षा के रूप चरण का नाम दिया गया हैं।
  • शेष 4 वर्ष अर्थात कक्षा 9 से 12 माध्यमिक अवस्था के दौरान विज्ञान, वाणिज्य, कला आदि विषयों का कोई कठोर पालन नहीं किया जाएगा छात्र अपनी इक्षानुसार विषय चुन सकते हैं।
  • कक्षा 10वीं का 12वीं की बोर्ड परीक्षा आयोजित होती रहेगी।
  • सभी राज्य अपनी स्थानीय भाषा में पाठ्यक्रम तैयार करवाएंगे। बसतो को बोझ कम रहे इस प्रकार से पुस्तके उपलब्ध हो।
  • स्कूल स्टैंडर्ड्स अथॉरिटी गठित की जाएगी जोकि स्कूलों की गुणवत्ता को सुधारने की दिशा में काम करेगी।

प्रधानमंत्री मोदी एजुकेशन नीति के 5 प्रमुख स्तम्भ : National Policy On Education 2020

  • इक्विटी (भागीदारी)
  • अफोर्डेबिलिटी (किफायत)
  • क्वालिटी (गुणवत्ता)
  • एक्सेस (सब तक पहुंच)
  • अकाउंटेबिलिटी (जवाबदेही)

नई शिक्षा नीति 2020 की प्रमुख बातें हिंदी में : New Education Policy 2020 Key Points In Hindi

  • नई नीति के अनुसार क्षेत्रीय भाषाओं में ई-कोर्स प्रारंभ किए जाएंगे।
  • एक नेशनल एजुकेशनल साइंटफिक फोरम (NETF) भी शुरू करने का निर्णय भी लिया गया हैं।
  • बता दें कि देश में इस समय लगभग 45,000 कॉलेज स्थित हैं, जिन्हें ग्रेडेड स्वायत्तता के अनुसार प्रशासनिक, शैक्षणिक और वित्तीय स्वायत्तता प्रदान की जाएगी।
  • वर्चुअल लैब्स विकसित किए जाने का प्रावधान हैं।
  • छात्र अब 4 वर्ष का डिग्री प्रोग्राम इसके बाद M। A। कर सकते हैं। फिर उसके बाद बिना M। Phil किए सीधा PhD की डिग्री हासिल कर सकते हैं।
  • बोर्ड परीक्षा के महत्व को अब कम किया जाएगा और वास्तविक ज्ञान की परख करना प्रमुख उद्देश्य होगा।
  • कक्षा पांचवीं तक निर्देशों के लिए मात्र भाषा का चुनाव किया गया हैं और इसकी सम्पूर्ण जानकारी रिपोर्ट कार्ड में अंकित होगी।
  • नई नीति के अनुसार ऑनलाइन एजुकेशन और टेक्नोलॉजी अधिक जोर दिया गया हैं।
  • क्या आप जानते हैं कि अभी तक सेंट्रल यूनिवर्सिटीज, डीम्ड यूनविर्सिटी और स्टैंडअलोन इंस्टिट्यूशंस सभी के लिए अलग अलग नियम थे, लेकिन अब सभी एक ही नियम का पालन करेंगे।

नई शिक्षा नीति पर एक नज़र : Importance Of National Policy On Education

  • नीति के अनुसार छात्र की क्षमता को बढ़ावा देना प्रमुख लक्ष्य होगा।
  • शिक्षकों को तो जागरूक किया ही जाएगा लेकिन छात्रों के परिजनों को जागरूक किया जाएगा।
  • विज्ञान और कला के बीच छात्रों को किसी तरह की कोई कठिनाई नहीं होगी।
  • नैतिकता और संवैधानिक मूल्य पाठ्यक्रमों का प्रमुख हिस्सा बनाया जाएगा।
  • वैचारिक समझ पर जोर के साथ साथ महत्वपूर्ण और रचनात्मकता दृष्टिकोण पर अधिक बल दिया जाएगा।

नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति का स्तर ऐसे उठेगा ऊँचा

  • न्यू शिक्षा नीति के अनुसार उच्च शिक्षा प्रदान करने के उद्देश्य से विषयों के क्रिएटिव कॉम्बिनेशन विध्यार्थी अब विषयों को बदल सकते हैं।
  • बता दें कि डिजिटल स्तर पर एकेडमिक बैंक ऑफ क्रेडिट का निर्माण किया जाएगा। जिसमें शिक्षण संस्थानो से प्राप्त किए गए क्रेडिट का लेखा जोखा रखा जाएगा और अंतः छात्र को मिलने वाली फाइनल डिग्री में इन क्रेडिट को सम्मलित किया जाएगा।
  • नेशनल रिसर्च फाउंडेशन का गठन किया जाना भी नई नीति का हिस्सा हैं। जोकि शोध की संस्कृति और क्षमता बढ़ाने के लिए प्रमुख होगी।
  • हायर एजुकेशन कमीशन ऑफ इंडिया का गठन भी किया जाना हैं जिसके माध्यम से शिक्षा के स्तर को एक दायरे में लाया जा सके। जिसमे मेडिकल और लीगल के अतिरिक्त पूरी शिक्षा को शामिल किया गया हैं।
  • आपको बता दें कि विश्वविद्यालयों में प्रवेशों के लिए अब एक प्रवेश प्रवेश परीक्षा होगी।
  • अब सरकारी व गैर-सरकारी शिक्षण संस्थानों पर सामान नियमों और मानकों को लागू किया जाएगा।

न्यू शिक्षा पालिसी के बाद अध्यापन के मानक में आएंगे यह बदलाब

  • साल 2030 तक 4 साल की न्यूनतम इंटीग्रेटेड बीएड डिग्री होना अनिवार्य होगा।
  • कॉलेज और यूनिवर्सिटी अध्यापकों को सहयोग करने के लिए इच्छुक वरिष्ठ एवं रिटायर्ड अध्यापकों का एक समूह बनाया जाएगा।
  • क्या आप जानते हैं कि अध्यापकों के लिए (CNPS) अर्थात कॉमन नेशनल प्रोफेशनल स्टैंडर्ड्स को सज किया जाएगा और तैयार करने की जिम्मेदारी एससीईआरटी, एनसीईआरटी, अध्यापकों और विशेषज्ञ से परामर्श करने के उपरांत नेशनल काउंसिल फॉर टीचर एजुकेशन को दिया जाएगा।

नई शिक्षा नीति 2020 Pdf Download In Hindi

नेशनल एजुकेशन पॉलिसी 2020 की पीडीऍफ़ (PDF) हम अपने इस लेख में दे रहे हैं, जिससे आप शिक्षा के स्तर को ऊँचा उठाने वाली मोदी सरकार की इस पहल से अच्छी तरह रूबरू हो सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here