आत्मनिर्भर भारत अभियान ऑनलाइन आवेदन, लाभ और पात्रता – Aatm Nirbhar Arthik Rahat Package

0
3

Aatm Nirbhar bharat package profit online registration, आत्मनिर्भर भारत अभियान। आत्मनिर्भर राहत पैकेज ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन। आत्म निर्भर योजना लाभ।

Aatm Nirbhar Bharat Abhiyan – आत्मनिर्भर भारत अभियान राहत पैकेज की घोषणा माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा 12-05-2020 को पूरे देश को संबोधित करते हुए की गई हैं। आत्मनिर्भर भारत अभियान राहत पैकेज के तहत मोदी जी ने 20 लाख करोड़ रूपए की राशि का ऐलान किया हैं, इस राशि का आबंटन कोरोनावायरस से प्रभावित हुए देशवासियों की आर्थिक स्थित को सुधारने के लिए अलग-अलग तरीके से किया जाएगा। आर्थिक पैकेज का लाभ देश के मजदूर, छोटे कारोबारी, श्रमिक वर्ग, किसान और रोजमर्रा का जीवन यापन करने वाले और ऐसे व्यक्ति जिनकी मासिक आय 15000 रूपए से कम हैं आदि को ज्यादा दिया जाएगा । बता दें कि इस पैकेज में घोषित की गई राशि अब तक के किसी भी आर्थिक पैकेज की सबसे बड़ी रकम हैं।

आत्म निर्भर भारत योजना क्या हैं :

आर्थिक पैकेज की घोषणा प्रधानमंत्री जी ने 130 करोड़ देशवासियों को संबोधित करते हुए उनकी आर्थिक स्थिति को मजबूत बनाने के लिए की हैं। जैसा की नाम से ही स्पष्ट होता हैं कि इस पैकेज के माध्यम से पीएम मोदी समस्त देशवासियों को COVID-19 महामारी के संकट से निकालकर आत्मनिर्भर बनाना चाहते हैं, जिससे देश की आर्थिक स्थिति को मजबूत बनाए रखा जा सके। मोदी जी ने 20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज (pm modi yojana) की घोषणा करते हुए कहा था कि मेरे प्यारे भाइयों और बहनों इस संकट की घडी में हम बैठे नही रहेंगे “हम लड़ेंगे भी और बढ़ेंगे भी” कोरोनावायरस से लड़ते हुए आर्थिक उन्नति की राह पर भी आगे बढ़ते, जाएंगे जिससे हमारी आर्थिक स्थित मजबूत बनी रहे। बता दें कि प्रधानमंत्री आर्थिक राहत पैकेज की भूमिका सभी सेक्टरों की क्षमता और गुणवत्ता को बढ़ाने में अहम होगी।AATM NIRBHAR RAHAT PACKAGE

आत्मनिर्भर भारत योजना 2020

योजना का नामआत्मनिर्भर भारत अभियान
योजना का शुभारंभप्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी
पैकेज का उद्देश्यदेश को समृद्ध और संपन्न बनाना
योजना की शुरुआत हुई12 मई 2020
पैकेज की निर्धारित राशि20 लाख करोड़ रुपए
लाभश्रमिक, किसान, मझले व्यापारी, छोटे व्यापारी, MSME
योजना का प्रकारकेंद्र सरकार
ऑफिशियल वेबसाइटhttps://www.pmindia.gov.in/en/

आत्मनिर्भर भारत अभियान से कौन कौन लाभान्वित होगा – Aatm Nirbhar Rahat Package Benefits In Hindi

  • देश का गरीब नागरिक
  • पशु-पालक
  • काश्तकार
  • प्रवासी मज़दूर वर्ग
  • कुटीर उद्योग
  • देश के मछुआरे
  • श्रमिक वर्ग
  • किसान
  • लघु उद्योग
  • मध्यमवर्गीय उद्योग
  • संगठित क्षेत्र व असंगठित क्षेत्र के व्यक्ति

यह भी पढ़िए : (आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश रोजगार योजना)

सूक्ष्म लघु मध्यम वर्गीय गृह उद्योग (MSMEs) के लिए आत्मनिर्भर अभियान के तहत 16 महत्वपूर्ण घोषणा की गई जोकि निम्नलिखित हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि MSME 12,000 करोड़ लोगो से भी अधिक को रोजगार रोजगार उपलब्ध कराता हैं और भारतीय अर्थव्यवस्था की रीढ़ की हड्डी माना जाता हैं। आइए जान लेते हैं MSMEs के लिए गई तमाम घोषणाओं के बारे में।pm modi aatm nirbhar yojna

  • MSMEs सहित व्यापार करने के लिए 3,00,000 करोड़ रुपए।
  • संपार्श्विक नि: शुल्क स्वचालित ऋण।
  • MSMEs की नई परिभाषा दी गई हैं।
  • फंड के माध्यम से रुपए 50000 करोड़ इक्विटी इन्फ्यूशन।
  • अधीनस्थ ऋण के रूप में 20,000 करोड़।
  • व्यापार और श्रमिको के लिय 2500 करोड़ रुपये का ईपीएफ समर्थन।
  • ग्लोबल टेंडर (global tender) 200 करोड़ रुपये तक का है।
  • msme के लिए अन्य हस्तक्षेप।
  • श्रमिकों और व्यापार के लिए 2500 करोड़ रुपये का ईपीएफ (EPF) समर्थन अन्य 3 महीनों के लिए।
  • NBFC / HC और MFI के लिए 30000 करोड़ रुपये की तरलता सुविधा।
  • आंशिक क्रेडिट गारंटी योजना NBFC के लिए 45,000 करोड़ रुपये की।
  • 90,000 करोड़ रुपये की तरलता इंजेक्शन DISCOM के लिए।
  • ठेकेदारों को राहत दी जाएगी।
  • रियल एस्टेट परियोजनाओं के पंजीकरण और पूर्णता तिथि का विस्तार रेरा (RERA) के तहत किया जाएगा।
  • टीडीएस (TDS) / टीसीएस (TCS) कटौती के माध्यम से 50,000 करोड़ रुपये की तरलता।
  • अन्य कर उपाय।

किसानों की आय को दोगुनी करने के लिए आत्मनिर्भर भारत पैकेज तहत की गई घोषणाएं – Aatm Nirbhar Rahat Package Se Kisano Ko Fayda

  • 11 लाख करोड़ रुपये की राशि का कोष कृषि अवसंरचना की स्थापना के लिए।
  • 10,000 करोड़ रूपए सूक्ष्म खाद्य उद्यमों (micro food enterprises) के एक औपचारिककरण के उद्देश्य से एक नवीकरणीय योजना पर व्यय किए जाएंगे।
  • 15000 करोड़ रुपये का प्रबंध पशुपालन (Developing animal husbandry) के बुनियादी ढांचे के विकास के लिए किया जायेगा।
  • 2000 करोड़ रुपये का आबंटन प्रधान मंत्री मतस्य संपदा योजना (Pradhan Mantri Matstya Sampada Yojana) के अंतर्गत मछुआरों को देय होगा।
  • हर्बल खेती के उचित विकाश के लिए केंद्र सरकार 4000 करोड़ रूपए की राशि का बजट केंद्र सरकार आबंटित करेगी।
  • बता दें कि 500 करोड़ रुपए की राशि मधुमक्खी पालन की पहल के लिए अलग से व्यय किए जाएंगे।
  • अंतरराज्यीय व्यापार में आने वाली बाधाओं को दूर करके कृषि विपणन को नए कानून के माध्यम से लागू किया जाएगा।
  • बता दें कि किसानो को सुविधात्मक कृषि उपज के जरिए उचित मूल्य और गुणवत्ता आश्वासन दिया जाएगा।
  • ऑपरेशन ग्रीन के माध्यम से 500 करोड़ की राशि फल संबंधी फसल पर खर्च किया जाएगा।

आत्मनिर्भर भारत अभियान राहत पैकेज के अंतर्गत महत्वपूर्ण क्षेत्र – Aatm Nirbhar Bharat Abhiyan Ka Area Kya Hai Detail

  • कृषि प्रणाली
  • मेक इन इंडिया
  • बेहतर वित्तीय सेवा
  • उत्तम आधारिक संरचना
  • सरल और स्पष्ट नियम कानून
  • नए व्यवसाय को प्रेरित करना
  • समर्थ और संकल्पित मानवाधिकार
  • निवेश को प्रेरित करना

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here